Security alarm system kya hai or kaise kaam karta hai

Security alarm system kya hai: आपने बहुत सी फिल्मों में देखा होगा, जैसे कोई चोर घर, आफिस, बैंक आदि में चोरी करने घुसता है अलार्म बजने लग जाता है ओर पुलिस आ जाती है। आपने grand masti बॉलीवुड मूवी देखी होगी तो आपको मालूम होगा की जब चोर बैंक लूटने आते है तो आफताब किस तरह से अलार्म ट्रिग करता है ओर कुछ देर में police बांह आ जाती है। तो आपके मन हमेशा यह जानने की इच्छा रहेगी की आखिर यह काम कैसे करता है। Security alarm system में बहुत से security सिस्टम आते है।

तो Security alarm system ki detail jaankri होना बहुत ही आवश्यक है अगर आप अपने आफिस में या घर में इसे इनस्टॉल करवाने बाले है अगर आप security system install करते है तो भी आपको इसकी पूरी जानकारी होना आवश्यक है। कुछ लोग होंगे जो न तो इस सिस्टम को लगवाने बाले है ओर न लगाने वाले, उन्हें भी यह आर्टिकल पढ़ना चाहिए उनके knowledge के लिए।

Security alarm system kya hai?

Security alarm system: एक ऐसा सिस्टम है जिसके द्वारा सुरक्षित की गयी बस्तु य जगह में कोई घटना होती है तो वह सिस्टम अलार्म बजाने लग जायेगा। अगर उस सिस्टम के साथ मॉनिटरिंग सिस्टम जैसे autodilar बगेरा जोड़ रखा है, तो उसमे सुरक्षित किये गए नंबर में कॉल या sms आ जायगा। जिससे की आपको पता चल जायेगा की आपके घर या ऑफीस में क्या हो रहा है, चाहे आप अपने घर या ऑफिस से कितने भी दूर क्यों न हो।

सिक्योरिटी अलार्म सिस्टम कैसे काम करता है यह जानने से पहले हमे यह जान लेना चाहिए की हम इस सिस्टम के साथ किस किस प्रकार के सिक्योरिटी एकुप्मेंट लगा सकते है। सिक्योरिटी सिस्टम में कोन कोन से डिवाइस लगने है यह हमारे सुरक्षा प्लान decide करता है की हमे घर या ऑफिस में क्या क्या सिक्योर करना है।

Read also: 

सिक्योरिटी अलार्म सिस्टम में यूज़ होने बाले डिवाइस: Security alarm system kya hai

  • Control Panel : किसी भी अलार्म system का मैन पार्ट होता है कण्ट्रोल पैनल का इसे आप सिक्योरिटी सिस्टम का दिमाग कहेगे तो ये बिलकुल सही है। बैसे हमे इसके नाम से ही पता चल जा रहा है की यह सभी डिवाइस को कण्ट्रोल करता है। Control panel इसके साथ जुड़े सभी डिवाइस और component के साथ continuously communicate करता रहता है। जब हम अलार्म सिस्टम की programming करते है उस समय हम कण्ट्रोल पैनल को यह काम सौंपते है की जब भी किस डिवाइस के सिग्नल में कुछ बदलाब होता है तो उसे क्या करना।Security alarm system kya hai
  • Keypad: कीपैड कण्ट्रोल पैनल का ही एक हिस्सा होता है क्यूंकि इसके बिना हम contron panel को कोई भी इंट्रक्शन नहीं दे पाएंगे और अलार्म सिस्टम अपने मर्जी से काम करेगा और सभी डिवाइस लगाने के बाद अगर अलार्म बजता है तो हम उसे बंद भी नहीं कर सकते। तो एक control panel इ साथ कीपैड होना बहुत ही आबशयक है। बहुत से कण्ट्रोल पैनल में आपको inbuiled keypad मिलता है तो बहुत सरे कण्ट्रोल पैनल के साथ एक्सटर्नल कीपैड लगता है।Security alarm system kya hai

नोट: सभी प्रकार के keypad सभी प्रकार के पैनल के साथ इनस्टॉल नहीं होते यानी वह काम नहीं करेंगे। अलग अलग control panel के लिए अलग अलग keypad बने होते है आप मॉडल नंबर के हिसाब से choose कर सकते है।

  • Door or Window sensor: Door Sensor को हम MS ( magnetic sensor ) भी कहते है। MS एक स्विच की तरह काम करता है जब ms के दोनों हिसे पास पास होते है तो यह एक circuit को पूरा करते है और जब दूर होते है तो वह सर्कि टूट जाता है ( अगर MS NO – normal open में काम करता है तो जब ms के दोनों हिसे पास पास होंगे तो यह एक circuit को ओपन कर देगा और जब दूर होंगे तो यह circuit को क्लोज कर देगा) । MS के वायर बाले हिसे में एक flxible स्विच बनाया जाता है जो magnet से ओन और ऑफ हो जाता है। Security system

MS का एक हिंसा door या window के फ्रेम में लगाया जाता है और दूसरा हिंसा door ya window में। जब door बंद होगा तो वह ms के दोनों हिसे पास पास होंगे और circuit पूरा होगा अगर दूर खुलता है तो वह दूर दूर होंगे जिससे circuit टूट जायेगा।

ms को हम ज्यादातर arm mode (restricted time to all) में करते है। जब हम कण्ट्रोल पैनल को arm करते है और system arm hone के बाद उस door को कोई ओपन करता है तो जो सर्किट बना था वह टूट जाता है और जैसे मैंने ऊपर बताया था की कण्ट्रोल पैनल अपने साथ लगे सभी component के साथ continuously communicate करता रहता है और इसे MS से कोई सिग्नल नहीं मिल पता है और panel हमारे द्वारा प्रोग्राम की गयी एक्टिविटी करता है जैसे अलार्म बजाना या cms में कॉल करना इत्यादि।

  • Motion sensor : motion sensor में हम ज्यादा तर PIR को use करते है। PIR ka full form होता है passive infrared sensor । pir sensor warm object द्वारा infrared light radiated को डिटेक्ट करता है।। इसमें पाइरो इलेक्ट्रिक सेंसर होते हैं जो उनके तापमान में परिवर्तन (घटना अवरक्त विकिरण के कारण) को इलेक्ट्रिक सिग्नल में पेश करते हैं। जब infrared light एक क्रिस्टल पर strikes करता है, तो यह एक electrical charge उत्पन्न करता है। जिससे की pir human और animal को डिटेक्ट करता है। Security alarm system kya hai

सिंपल शब्दों में कहे तो pir के सामने अगर मूवमेंट होता है तो वह apne सर्किट को ओपन कर देता है जिससे की पैनल के आस इसकी इनफार्मेशन पहुँच जाती है और आगे की प्रोसेस पैनल में बैसे ही होती है जैसे MS के दौरान होती है।

  • Vibration detector or glass break detector: कंपन डिटेक्शन के लिए सेंसर एक वाइब्रेशन डिटेक्टर (या शॉक सेंसर) है, अलार्म अलार्म को जेनरेट करने के लिए डिटेक्टर का एक यांत्रिक विस्थापन होना चाहिए; कंपन का पता लगाने वाले उपकरण न केवल फ़ाइल अलमारियाँ, वाल्ट, स्ट्रांगरूम, तिजोरियों और स्वचालित टेलर मशीन (एटीएम), गोपनीय सुरक्षा विशेष वस्तुओं के लिए सबसे उपयुक्त हैं, बल्कि घुसपैठियों को दीवार से तोड़ने से रोकने के लिए संयोजन में अन्य प्रणालियों के लिए भी उपयुक्त हैं। कैसे सही अनुप्रयोग में कंपन डिटेक्टर का उपयोग करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इसका उपयोग अक्सर एक विशेष वस्तु में सुरक्षा प्रदान करने के लिए किया जाता है जहां संरक्षित क्षेत्र है जो कर्मचारियों की गतिविधियों के साथ है।vibration detector system

कंपन डिटेक्टर के लिए दो प्रमुख पहचान विधियां हैं; एक यांत्रिक पहचान है, यह धातु संपर्क के यांत्रिक आंदोलन का उपयोग करके चालू / बंद स्विच के रूप में काम करता है, दूसरा ध्वनिक ध्वनि का पता लगाने वाला है। ध्वनिक साउंड डिटेक्शन की तुलना में, मैकेनिकल डिटेक्शन वाइब्रेशन डिटेक्टर को अपनाता है, केवल कम झूठे अलार्म के साथ वास्तविक भौतिक कंपन का पता लगाता है। कंपन डिटेक्टर जो ध्वनिक ध्वनि पहचान (माइक्रोफोन के साथ) पर आधारित है, यह कार से उच्च शोर, गर्मियों में गड़गड़ाहट से गलत अलार्म को ट्रिगर कर सकता है।

आम तौर पर अलार्म कनेक्शन के लिए NC (Normal Close) आउटपुट के साथ कंपन डिटेक्टरों में से अधिकांश। अलार्म सिस्टम के लिए वाइब्रेशन डिटेक्टर का कनेक्शन सरल है, आपको डिटेक्टरों और ज़ोन (अलार्म) के बीच श्रृंखला में ईओएल रोकनेवाला कनेक्ट करने की आवश्यकता हो सकती है।

  • Panic switch : पैनिक अलार्म भी एक सिक्योरिटी अलार्म का ही हिंसा है लेकिन कुछ लोग इसे अलग से देखते है और panic alarm कहते है यह कुछ हद तह सही भी है। पैनिक को जब हम NC (Normal Close) में प्रयोग करते है तो यह एक सर्किट बनाता है जब कोई पैनिक को देवता है तो वह सर्किट टूट जाता है आगे वही शामे प्रक्रिया होती है जो ऊपर बताई गयी सभी डिवाइस के साथ होती है।

panic alarm system

  • Sounder: अब तक हमने यह तो जान लिए की हमे ओन कोन से डिवाइस लगाने है और उनके क्या काम है। लेकिन वह सभी डिवाइस पैनल के लिए इनपुट का काम करते है जब कण्ट्रोल पैनल को उनसे कोई दिकत लगती है तो वह साउंडर के लिए पावर release करता है और साउंडर को पावर मिलते ही अलार्म बजने लगता है। Security alarm system kaise kaam karta hai

Security alarm system kya hai, Security alarm system kaise kaam karta hai : यह आप अब तक समझ ही गए होंगे लेकिन फिर भी में आपको इसके कुछ पॉइंट्स बता देता हं।
Security alarm system में एक कण्ट्रोल पैनल होता है जिसके साथ सभी component जुड़े रहते है, इस कंट्रोल पैनल को हमने कीपैड की सहायता से प्रोग्राम किया होता है की इसे कब कैसे काम करना है। अब जब भी किसी component से continuty टूटती है तो कण्ट्रोल पैनल साउंडर के लिए पावर रिलीज़ कर देता है जिससे अलार्म बजने लगता है।

उम्मीद करता हूँ आपको Security alarm system kya hai के बारे में काफी कुछ जानने को मिला होगा। अगर आपका कोई सवाल या सुझाब है तो आप कमेंट करके पूछ सकते है।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here