Mouse kya hai | माउस कितने प्रकार के होते है |COMPUTER MOUSE||

Mouse kya hai: आज इस टेक्निकल युग में हम सभी कंप्यूटर इस्तेमाल करते है, कंप्यूटर में एक विशेष डिवाइस होता है जिसे हम mouse कहते है, लेकिन बहुत से लोगो को उस छोटे से डिवाइस के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है। जो टेक्नोलॉजी से लगाव रखता है उसे माउस के बारे में जानने की इच्छा हमेशा रहती है, क्यूंकि कंप्यूटर में माउस के बिना काम करना बहुत मुश्किल होता है।

जब हम मार्किट में माउस खरीदने जाते है तो हमें बांह पर अलग-अलग प्रकार के और अलग-अलग प्राइस के माउस देखने को मिलते है, ऐसे में हमारे लिए सही माउस कोन सा है, इसका चयन करना बहुत मुश्किल होता है। अगर आपको mouse की सही जानकारी होगी तो आप अपने कंप्यूटर के लिए एक अच्छे माउस का चयन कर सकते है। तो आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे की माउस क्या है [Mouse kya hai], माउस कितने प्रकार के होते है और आखिर माउस कैसे काम करता है।

माउस क्या है [what is mouse in hindi] :

माउस कंप्यूटर का एक इनपुट डिवाइस है, जो कंप्यूटर के कर्सर को कण्ट्रोल करता है, जिसकी सहायता से यूजर कंप्यूटर को इंस्ट्रक्शन देता है। माउस को हम pointing device भी कहते है, माउस के द्वारा हम PC में बिभिन्न प्रकार के कार्य कर पाते है, जैसे किसी प्रोग्राम या फाइल को ओपन करना और बंद करना, किसी दूसरे फोल्डर में ले जाना या फाइल को सेलेक्ट करना इत्यादि।

Mouse kya hai | माउस कितने प्रकार के होते है ||

कंप्यूटर में यूज़ होने बाले pointing device को माउस इसलिए कहते है, क्यूंकि यह दिखने में बिलकुल एक चूहे यानी इंग्लिश में बोले तो माउस की तरह दिखता है।

माउस के फिजिकल पार्ट्स:

  • Button: सभी प्रकार के माउस में आपको काम से काम दो बटन जरूर देखने को मिलेंगे जिन्हे हम लेफ्ट बटन और राइट बटन के नाम से जानते है।
  • Wheel: माउस मके लेफ्ट और राइट बटन के बिच में आपको एक व्हील देखने को मिलता है जिसका कार्य कंप्यूटर में पेज को ऊपर या निचे स्क्रॉल करना होता है।
  • Ball ya led: माउस के निचे की तरफ एक led या ball होती है जिसकी सहायता से माउस कर्सर move होता है, जिन्ह माउस में led होती है उन्हें हम ऑप्टिकल माउस कहते है और जिन्ह माउस में बॉल का इस्तेमाल होता है उन्हें हम मैकेनिकल माउस कहते है।
  • Circuit board: circuit बोर्ड माउस के अंदर होता है यह circuit board ही हमारे द्वारा किये गए माउस इंटरैक्शन को कंप्यूटर को send करता है।
  • कनेक्शन मीडियम: वायर्ड माउस में हम माउस को कंप्यूटर से वायर की माध्यम से usb, ps2 या serial कनेक्टर के द्वारा कनेक्ट किया जाता है या फिर wireless माउस को उसके usb रिसीवर के सहायता से जोड़ा जाता है।

माउस कितने प्रकार के होते है:

माउस मुख्या रूप से पांच प्रकार के होते है।

  1. Mechanical Mouse: मैकेनिकल माउस का आविष्कार सन 1972 में Bill English किया था। मैकेनिकल माउस इंस्ट्रक्शन के लिए बॉल का इस्तेमाल करता था इसलिए इसे हम बॉल माउस भी कहते है। जब हम माउस को मूव करते थे तो माउस के निचे लगा बॉल भी मूव होता था जिसकी सहायता से बॉल माउस कंप्यूटर को कर्सर को मूव करवाता था। बॉल माउस का प्रयोग अब शायद ही कोई करता होगा। mechanical-mouse
  2. Optical Mouse: ऑप्टिकल माउस में बॉल के स्थान पर एक LED का इस्तेमाल किया जाता है, बर्तमान में ज्यादातर ऑप्टिकल माउस का ही इस्तेमाल होता है। optical-mouse
  3. Wireless mouse: वायरलेस माउस भी एक तरह का ऑप्टिकल माउस ही होता है लेकिन यह कंप्यूटर को इंस्ट्रक्शन देने के लिए वायरलेस यानी रेडिओ फ्रेक्वेंसी का इस्तेमाल करता है। इसके लिए हमे ट्रांसमीटर और रिसीवर की जरुरत होती है, ट्रांसमीटर तो माउस में ही लगा होता है लेकिन RF को रिसीव करने के लिए कंप्यूटर में RF रिसीवर लगाना पड़ता है। wireless mouse
  4.  Trackball mouse: यह माउस दिखने में कुछ हद नार्मल माउस की तरह ही दिखता है लेकिन कर्सर को मूव करने के लिए track ball का इस्तेमाल होता है जिसे हम हम अपने अंगूठे की सहायता से ऑपरेट कर सकते है। इस माउस का इस्तेमाल करना बहुत ज्यादा मुश्किल होता है तो इस तरह के माउस को मार्किट में बहुत काम ही देख पयोगे।  trackball mouse
  5. स्टाइलस माउस: यह माउस ना होक एक स्टाइलस पेन की तरह होता है लेकिन इसमें वह सभी बटन होते है जो एक नार्मल माउस में होते है। स्टाइलस माउस वायरलेस होते है और यह टच स्क्रीन बाले लैपटॉप में यूज़ किये जाते है।

माउस क्या काम करता है

  1. Pointing: माउस को मूव करते हुए जब हम Cursor को कम्प्युटर की स्क्रीन पर दिख रहे फाइल पर ले जाते है तो वह फाइल हाईलाइट
    हो जाता है और उसे फाइल या फोल्डर की बेसिक जानकारी भी हाईलाइट हो जाती ह। इसे हम पॉइंटिंग या hovering के नाम से जानते ह।
  2. Selecting: जब हम माउस को मूव करते हुए कर्सर को किसी आइटम पे ले जाते है और उसपे माउस से सिंगल लेफ्ट क्लिक दबाते है तो इससे वह आइटम सेलेक्ट हो जाती ह।
  3. Clicking: माउस में बेसिक दो बटन होते है अगर हम उन उनमे से किसी बटन को प्रेस करके छोड़ देते है तो उसे हम क्लिकिंग कह सकते है । मैनली Click दो तरह के होते है।

Left Click: Mouse में दिए गए Left button को प्रेस करना Left Click कहलाता है। इसके निम्नलिखित प्रकार हैं।

Single Click: –Single Click – Mouse के left बटन को हम अगर एक बार प्रेस करते है तो उसे सिंगल क्लिक कहते है। Single Click के द्वारा हम किसी भी फाइल, फोल्डर प्रोग्राम को सेलेक्ट कर सकते है, सिंगल क्लिक से हम मेनू आदि भी ओपन कर सकते है।

  1. Double Click: – Mouse में दिए गए left button को जल्दी से दो बार प्रेस करते है तो उसे Double Click कहते है। Double Click का यूज़ ज्यादातर किसी फाइल या प्रोग्राम को ओपन करने के लिए होता है।
  2. Triple Click – ट्रिपल क्लिक करके हम किसी फाइल या डॉक्यूमेंट में टेक्स्ट आदि को सेलेक्ट कर सकते है, ट्रिपल क्लिक का इस्तेमाल बहुत काम लोग ही करते ह। बहुत से लोगो ट्रिपल क्लिक की जानकारी भी नहीं होती ह।

Right Click: Mouse के Right button को प्रेस करना ही Right Click होता है। फाइल पर Right Click करते ही उस फाइल के साथ जो भी कार्य किये जा सकते है उसकी एक लिस्ट खुल जाती है। जिसमे मुख्या तोर पर फाइल को ओपन, ओपन विथ, प्रॉपर्टी आदि चेक करने के लिए किया जाता है।

4. Dragging and Dropping: Mouse से हम किसी फाइल या प्रोग्राम को एक फोल्डर या drive से दूसरे फोल्डर या drive में ले जाते है जिसे हम Dragging और Dropping कहते है।

जिस भी फाइल को आपने Dragging और Dropping करना है उस पर लेफ्ट क्लिक को प्रेस करके रखे और माउस मूव करके फाइल को उस स्थान में ले आये जाँह आपको वह फाइल ड्राप करनी है, जब आप उस स्थान पर फाइल ले आओगे तो आपको लेफ्ट बटन को छोड़ देना है, जैसे ही आप लेफ्ट बटन को छोड़ोगे वह फाइल आपकी उस स्थान पर आ जाएगी।

5. Scrolling: माउस Wheel से किसी page या Document, को ऊपर की तरफ या नीचे की तरफ करने को Scrolling कहते है। पेज को ऊपर की और स्क्रॉल करने के लिए माउस Wheel को सामने की तरफ roll करना पड़ता है और नीचे की तरफ स्क्रॉल करने के लिए आगे की तरफ व्हील को रोल करना होता है।

इस आर्टिकल में हमने सीखा की mouse kya hai (माउस क्या है), माउस कैसे काम करता है, और माउस कितने प्रकार के होते है। उम्मीद है आपको मेरे द्वारा दी गयी जान कारी अच्छी लगी होगी, अगर आपको कुछ डाउट हो तो आप कमेंट करके पूछ सकते है।

3 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here