Laser keyboard kya hai, Laser keyboard kaise kaam karta hai ?

Laser keyboard kya hai or Laser keyboard kaise kaam karta hai? लगभग हम सब ने तरह – तरह के कीबोर्ड इस्तेमाल किय होंगे चाहे बो wired keyboard, wireless keyboard , qwerty keyboard, rolling keyboard हो।

लकिन आज में बात करने बाला हूँ, लेज़र कीबोर्ड के बारें में शायद आप में किसी ने इसे यूज़ किया हो या इसको कंही देखा हो। इस लेख के माध्यम से हम जानने की कोशिश करेंगे की लेज़र कीबोर्ड ( projection keyboard )  क्या है, और कैसे काम करता है इसके पीछे आखहिर क्या साइंस है।

Laser keyboard kya hai:-

यह एक कंप्यूटर इनपुट डिवाइस डिवाइस है! जिससे एक virtual keyboard की परछाई नीचे सरफेस पर, सतह पर पेश की जाती है। यानि हमे सतह पर एक लेज़र द्वारा बना हुआ कीबोर्ड दिखाई देता है। हम जब उस कीबोर्ड की किसी key के स्थान को छूते है तो उसे मालूम हो जाता है, की हमने कोनसा key छुआ था, और आपको इसका आउटपुट मिल जाता है।

Laser keyboard kya hai, Laser keyboard kaise kaam karta hai ?

इस कीबोर्ड को हम कंप्यूटर, लैपटॉप, लेटेस्ट स्मार्टफोन, और टैबलट के साथ wire और wireless की सहायता से जोड़ सकते है। बहुत जल्द हमे यह कीबोर्ड हमारे स्मार्टफोन और स्मार्टवॉच में इनबिल्ट देखने को मिल सकते है। जिससे की आप बिना किसी एक्स्ट्रा प्रोजेक्टर की सहायता लिए लेज़र कीबोर्ड को यूज़ कर पाएंगे।

Laser keyboard kya hai, Laser keyboard kaise kaam karta hai?

Laser keyboard kaise kaam karta hai?:-

इस डिवाइस में सबसे ऊपर रेड लेज़र लगा होता है, यह बही लेज़र होता है, जो हम कभी बचपन में Rs.20/- में खरीद कर दिवार में पॉइंट करते थे जब हम उसके आगे बाली कैप को चेंज करते थे तो हम अलग अलग तरह के चित्र देख पाते थे।

यह उसी तरह की लेज़र है, जिसके आगे लगा होता एक इफेक्टिव ऑप्टिकल एलिमेंट जांह पे कीबोर्ड का छोटा सा लेआउट होता है। जब इसके पीछे से लेज़र लाइट आती है, तो यह सरफेस में एक्सपेंड होके बड़े आराम से कीबोर्ड के लेयोट को प्रोजेक्ट कर देता है।

Laser keyboard kya hai, Laser keyboard kaise kaam karta hai ?

सरफेस के ठीक ऊपर इंफ़्रा रेड लगा होता है, जो की कीबोर्ड के ऊपर एक थीन लेयर जनरेट करता है जिसे हम देख तो नही पाते पर बह होती है। इससे क्या होता जब भी हम किसी key सरफेस को छूते है, तो बो इंफ़्रा रेड लाइट हमारी उंगली में टकरा कर बापिस सिमोस बेस्ड सेंसर में से गुजरती है जो की रेड लेज़र और इंफ़्रा रेड के बिच में लगा होता है। सिमोस सेंसर यह पता लगता है की हमने कीबोर्ड के किस जगह को छुआ है, और बांह कोन सी key है, और सॉफ्टवेयर की मदत से हमे इसका आउटपुट मिल पता है।

Laser keyboard kya hai, Laser keyboard kaise kaam karta hai?

USER EXPERIENCE केसा होगा:-

आप इसे प्लेन सरफेस में कीबोर्ड को प्रोजेक्ट करके इस्तेमाल कर सकते है। यह मल्टी की को सपोर्ट करता है लेकिन मुझे नहीं लगता की यह सही तरीके से काम कर पाता होगा। क्यूंकि जब हम दो key को एक साथ टच करेंगे जैसे हमने shift और Ctrl टच करना है, जब हम शिफट को टच करेंगे तो उसकी जानकारी तो उसके पास चली जाएगी लेकिन जब हम Ctrl को टच करेंगे तो मुश्किल हो सकती है।

क्यूंकि Ctrl, shift ठीक पीछे होता है जो की हमारी shift बाली उंगली से ढक गया होता है, न तो उससे इंफ़्रा रेड लाइट टकरा पायेगी न सिमोस सेंसर उससे जान पायेगा multi key use करने में दिकत आ सकती है। आप अगर एक टाइपिंग का काम  करते है तो फील हाल यह devices आपके काम का नहीं है।

यह डिवाइस फील हाल शो ऑफ करने के लिया अच्छा है। जिससे आप दिखा सकते है की आपके पास ऐसी टेक्नोलॉजी है।

3 COMMENTS

    • Han kaiash available hai aap ise amazon se kharid sakte hai, bahut jyaada mahnga bhi nahi hai agar aapko esi technology use karne mein maja aata hai to, par artical dhyaan se padna bhai iske kuchh cons bhi hai.
      Best buy link:- https://amzn.to/2EuByPK

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here