ITR Full Form in Hindi | ITR kya hai | ITR meaning in hindi

ITR kya hai? देश के ज़िम्मेदार और जागरूक नागरिक होने के नाते हमें ITR के बारे में जानकारी होनी चाहिए, ताकि हम इससे मिलने बाले फायदे और देश हित में अपना योगदान दे सके। ITR Full Form in Hindi , ITR kya hai यह सभी जानने के लिए हमारे इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

ITR का सीधा सबंध Income Tax यानि आयकर से है। हम जो सालाना कमाई करते है, उस में से सरकार कुछ अपना हिंसा विकास और व्यवस्थापन व सेवा शुल्क के रूप में लेती है, जिसे हम आयकर (Income Tax) कहते है।

ITR full form in hindi

आयकर से होने वाली जमा पूंजी को सरकार अपनी सरकारी गतिविधियों और नागरिको को सुविधा और सेवाएं देने के लिए लिए राजकीय कोष में जमा करती है।

Income tax की जानकारी तो आप में से बहुत लोगों को होगी लेकिन ITR की जानकारी बहुत कम लोगो को होती है, अगर आप नहीं जानते तो कोई बात नहीं आप इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे की ITR kya hai (ITR meaning in Hindi), ITR Full Form in hindi क्या है।

ITR Full Form in Hindi

ITR Full Form“Income Tax Return” होता है। ITR Full Form in Hindi (ITR का हिंदी में फुल फॉर्म ) – “आयकर रिटर्न” होता है।

ITR Kya Hai – आईटीआर क्या है

ITR यानि ‘Income Tax Return’ वास्तव में आपके पिछले वित्तीय वर्ष का लिखित हिसाब-किताब का ब्यौरा देने के लिए भरा जाने वाला एक फॉर्म है। जो की हमें इनकम टैक्स डिपार्टमेंट को देना होता है। Income Tax Return एक कानूनी Document है, जिसमे लिख कर नागरिक अपनी आय का पूरा हिसाब-किताब सरकार को देता है। ITR के द्वारा आप सम्पूर्ण जानकारी देते हैं कि उस वित्तीय वर्ष में आपने अपनी जॉब, Business या पेशे से कितने रुपए कमाए है।

itr kya hai

देश के कानून के हिसाब से ‘Income Tax Return’ हर व्यक्ति या व्यवसाय को भरना चाहिए। ITR फॉर्म भरने का अर्थ सरकार को टैक्स चुकाना नहीं है। आप वित्तीय वर्ष की समाप्ति पर Income Tax Return फाइल करके आप इनकम टैक्स विभाग या सरकार से यह भी कह सकते हैं, कि आप Income Tax देनदारी के दायरे में नहीं आते है।

प्रत्येक नागरिक को Income Tax Return Form भरना बहुत ज़रूरी है। अगर आप टैक्स भरने वालों में नहीं आते तब भी आपको ये फॉर्म भरना चाहिए क्योंकि इसके कोई भी नुक़सान नहीं होता, बल्कि अनेक फायदे है जिनका लाभ आप ITR form भरने से पाते है।

ITR कोन-कोन भर सकते है, Income Tax Return किसे भरना चाहिए।

Income Tax एक्ट, 1961 की धारा 139(1) के अनुसार, कोई भी व्यक्ति जिसकी कुल income वित्तीय वर्ष में टैक्स के दायरे में आती है (जो कि वित्तीय वर्ष 2020 के लिए 2.5 लाख से अधिक है) उसे ITR फाइल करना होता है।

आयकर के अनुसार, जिनकी उम्र 60 साल से कम और income 2.5 लाख से ज़्यादा है, सीनियर-सिटीजन जिनकी उम्र 60-80 साल और income 3 लाख से अधिक है, उन्हें ITR फॉर्म भरना अनिवार्य होता है।

Note: “income tax return भरने से पहले आपको यह जानकारी जरूर लेनी है की आपको ITR का कोन सा फॉर्म भरना है, क्योंकि इनकम टैक्स विभाग की वेबसाइट पर बहुत से ITR फ़ार्म होते हैं, जिनका उपयोग विभिन्न इनकम और टैक्स देने वालों के आधार पर ITR फाइल करने के लिए किया जाता है। यह जानना ज़रुरी हो जाता है कि कौन सा फार्म भरना आपके लिए उचित रहेगा।”

इनकम टैक्स रिटर्न भरने के कई तरीके

इनकम टैक्स रिटर्न भरने के बहुत से तरीके हैं, जिसमें ई-फाइलिंग से लेकर फिजिकल फॉर्म तक शामिल होते हैं। आप अपना आयकर रिटर्न खुद से भी भर सकते हैं, और किसी चार्टर्ड अकाउंटेंट की भी मदत ले सकते है, टैक्स रिटर्न मददगार या इनकम टैक्स प्रैक्टिशनर की मदद से भर सकते हैं.

ITR भरने के फायदे

ITR Form को भरने के बाद इनकम टैक्स डिपार्टमेंट इसकी जांच करता है। वह आपकी Income को Analyses करते है और कोई भी गलती पाए जाने पर इनकम टैक्स डिपार्टमेंट आप को नोटिस भेज जवाबदेही भी कर सकता है। अगर आपकी द्वारा दी गयी सभी जानकारी सही पाई जाती है तो हमे इनकम प्रूफ मिल जाता है, आपको मालूम होगा की इनकम प्रूफ की कितनी जगह पर जरुरत होती है, चाहे फिर आप कोई सर्कार कीतरफ से क्लेम आदि पाना चाहते हो या लोन, या फिर क्रेडिट कार्ड आदि बनाना चाहते हो।

ITR भरना और income tax जमा कराने में क्या अंतर है.

कोई भी व्यक्ति अगर कर योग्य income के दायरे में नहीं आता,तब भी वह ITR भर सकता है। नियमित रूप से आयकर रिटर्न भरने से वास्तव में आप अपनी income का एक Documentary evidence जमा कर लेते हैं। जो किसी वक्त अपनी income साबित करने में आपके काम आ सकता है।

अगर आपकी आमदनी टैक्स के दायरे में नहीं आती तो आपके लिए आईटीआर फाइल करना जरूरी नहीं है, लेकिन आपकी आय इनकम टैक्स के दायरे में आती है तो आपको ITR भरके इनकम टैक्स चुकाना जरुरी होता है। ITR

जीरो आईटीआर क्या है?

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मौजूदा नियमों के हिसाब से अगर आपकी टैक्स योग्य income सालाना 2.5 लाख रुपये से कम है, तो आपके लिए आईटीआर भरना जरूरी नहीं है। आप ऐसे में भी जीरो आईटीआर भर सकते हैं।

जीरो ITR का अर्थ यह है, कि आप सरकार को टैक्स तो नहीं देते, लेकिन अपनी income और expense की जानकारी देते हैं।

Conclusion
तो आज हमने इस आर्टिकल में जाना कि ITR Meaning in Hindi, ITR Full Form in Hindi , ITR kya hai, ITR Full Form in Hindi में क्या होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here