Soft Copy and Hard Copy meaning in hindi। Soft Copy और Hard Copy में क्या अंतर है?

अगर आप एक स्टूडेंट है तो आपने Soft Copy और Hard Copy जरूर से सुना होगा। क्यूंकि हम अक्सर कंप्यूटर और डॉक्यूमेंट के अंतर्गत इन शब्दों का यूज़ करते है। बहुत बार ऐसा भी होता जब कंही पर अपने डॉक्यूमेंट सबमिट करने होते तो वह हमसे डॉक्यूमेंट को Soft Copy या फिर Hard Copy के रूप में मंगाते है। अगर हमें Soft Copy and Hard Copy meaning in hindi पता नहीं है, और हमें Soft Copy और Hard Copy में क्या अंतर है, यह भी पता नहीं है तो हम परेशान हो जाते है की अब क्या करे।

और हम गलत फॉर्मेट में अपने डॉक्यूमेंट को सबमिट करने के लिए ले जाते है, और वह इन्हे स्वीकार नहीं करते। तो इसलिए हमें पता होना चाहिए की Soft Copy and Hard Copy meaning in hindi क्या होता है, और Soft Copy और Hard Copy में क्या अंतर है।

Soft Copy meaning in Hindi – Soft Copy kya hai

कंप्यूटर में जब भी किसी डॉक्यूमेंट फाइल को क्रिएट करके उसे कंप्यूटर के स्टोरेज में सेव या फिर कंप्यूटर नेटवर्क इंटरनेट में उसे डॉक्यूमेंट फाइल को शेयर किया जाता है तो उस डॉक्यूमेंट फाइल को हम Soft Copy कहते है। यह फाइल Text file, Drawing, Photograph इत्यादि फॉर्मेट में हो सकती है।

soft copy meaning in hindi

Soft Copy को हम कंप्यूटर मॉनिटर की सहायता से देख तो सकते है, लेकिन हम इसे सपर्श नहीं कर सकते।

Hard Copy meaning in Hindi – Hard Copy kya hai

जब हम किसी Soft Copy का प्रिंट आउट निकालते है, तो उस Printed Document को हार्ड कॉपी कहते है। जो की किसी Text file, Drawing, Photograph या कोई अन्य प्रिंटेबल डॉक्यूमेंट हो सकता है।

hard copy meaning in hindi
Photo by Ono Kosuki from Pexels

Hard Copy को हम physically स्पर्श कर सकते है और देख सकते है।

Soft Copy और Hard Copy में क्या अंतर है?

Sr. Soft Copy Hard Copy 
1. सॉफ्ट कॉपी को हम एडिट कर सकते है हार्ड कॉपी को हम एडिट नहीं कर सकते।
2. एक ही soft copy को एक साथ बहुत से लोगो के साथ शेयर कर सकते है। एक ही Hard copy को एक साथ बहुत से लोगो के साथ शेयर नहीं कर सकते है। इसके लिए हमारे पास मल्टीपल हार्ड कॉपी अवेलेबल होनी चाहिए।
3. सॉफ्ट कॉपी को लम्बे समय के लिए कंप्यूटर या पेन ड्राइव में सेव रख सकते है। हार्ड कॉपी को लम्बे समय के लिए सेफ नहीं रखा जा सकता है, क्यूंकि कागज को बहुत लम्बे समय तक सेफ रखना बहुत मुश्किल होता है।
4. soft copy को चेक करने के लिए कंप्यूटर की जरुरत पड़ती है। Hard copy को हम अपने हाथो में लेकर इसकी जांच कर सकते है।
5. सॉफ्ट कॉपी को स्पर्श नहीं कर सकते। हार्ड कॉपी को स्पर्श कर सकते।
6. सॉफ्ट कॉपी के ख़राब होने के बहुत कम चांसेस होते है। हार्ड कॉपी के ख़राब होने के बहुत ज्यादा चांसेस होते है।

 

आज हमने सीखा Soft Copy and Hard Copy meaning in hindi, Ex. जब आप कंप्यूटर में अपना रिज्यूमे बनाते है और उसे कंप्यूटर में सेव करते है तो उस फाइल को हम सॉफ्ट कॉपी कहते है, और जब उस फाइल को प्रिंटर की सहायता से उस रिज्यूमे का प्रिंट आउट निकालते है तो वह एक हार्ड कॉपी कहलाता है।
उम्मीद है आपको Soft Copy और Hard Copy में क्या अंतर है? यह अच्छे से समझ आ गया होगा।

6 COMMENTS

  1. Jab ek Hard copy ka picture hum computer mee save krte hain tab usko kya bolenge hard copy ya soft copy

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here