ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले क्या है? ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले कैसे काम करता है?

शायद आपने मूवीज या किसी फोटो में ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले को जरूर से देखा होगा। ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले का उसे Monitor, Mobile आदि में कॉन्सेप्ट के रूप काफी बार उसे किया गया है और ऐसी इंटरनेट में बहुत सारी फोटो भी अक्सर वायरल होती रहती है। ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले टेक्नोलॉजी अपने आप में एक अजूबा है, क्या आपको पता है ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले क्या है? और ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले कैसे काम करता है?

ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले क्या है:-

एक ऐसी डिस्प्ले जिसमे हम अपने डिवाइस के आउट पुट को तो देख ही सकते और उस डिस्प्ले के आर पार भी देखा जा सकता है। आपने किसी न किसी  फिल्मो में जरुरु देखा होगा जिसमे हीरो ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले का यूज़ कर रहा होता है। और हम देखते ही उस टेक्नोलॉजी के दीवाने हो जाते है। सब के दिमाग में यह ख्याल जरूर आता है की यह टेक्नोलॉजी कैसे काम करती होगी। और हम इसे रियल लाइफ में कब यूज़ कर पाएंगे।

यह टेक्नोलॉजी फ्यूचर में आने बाली नहीं बल्कि यह टेक्नोलॉजी हमारे पास अभी भी है। लेकिन हम ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले में कुछ कमी के कारन उसे यूज़ नहीं कर पा रहे।

ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले क्या है ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले कैसे काम करता है ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले क्या है ? ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले कैसे काम करता है ?

सैमसंग ने बहुत पहले एक विंडो ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले निकला था। जिसमे हम कुछ बेसिक चीजे देख पाते थे जैसे टाइम, कलैंडर, मौसम की जानकारी बगेरा इन सब के साथ हम विंडो के आर पार भी देख पाते थे। सैमसंग ऐसे डिस्प्ले समय समय में शोकेस करता रहा है।

यह भी पड़:- 

ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले कैसे काम करता है :-

इसके लिए आपको नार्मल डिस्प्ले के बारे में जनंना होगा। अगर आप को पता है की एक आम डिस्प्ले (बर्तमान में जो डिस्प्ले है) कैसे काम करती है तो आपको यह भी पता होगा वह भी एक ट्रांसपेरेंट डिस्प्ले है।

लेकिन इन डिस्प्ले में कलर फिलटर और एलेक्ट्रोने पिक्सेल लगे होते और फिक्सेल को लाइट अप करने के लिए इनके पीछे लाइट पैनल  लगा होता है। जिसके कारन हम इन डिस्प्ले के आर पार नहीं देख पाते है।

लकिन आप कहंगे हम इसेको  खिड़की में लगा दे या ऐसे भी लगा दे तो नेचुरल लाइट से काम बन जायेगा। हाँ जैसे सैमसंग की ट्रांसपेरेंट विंडो लेकिन रात को क्या करेंगे क्या उसके पीछे लाइट रखोगे।

बहुत सी कंपनी इस्पे काम कर रही है जैसे मैंने आपको पहले बताया की सैमसंग ने Already ऐसे डिस्प्ले को शो केस कर चुकी जिसमे एमोलेड डिस्प्ले लगी है। और पिक्सेल खुद बा खुद लाइट अप होते है।

लेकिन डिस्प्ले व्यू की क्वेलिटी अभी 60 से 70% तक ही मिल पायी है। जिसके कारन हम अभी तक इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नहीं कर पा रहे है। बहुत जल्द फ्यूचर में हम इसका इस्तेमाल करने बाले है।

आपको इस टेक्नोलॉजी के बारे में जानकर कैसा लगा कमेंट करके हमे अपनी राये दें ! धन्याबाद !!

 

मेमोरी लीक क्या होता है? कैसे पता करे की आपका सिस्टम  मेमोरी लीक कर रहा है !

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here